क्या इसे ही सस्ता पब्लिसिटी स्टंट कहा जाता है

आजकल बॉलीवुड में बायोपिक फिल्मों का बोलबाला है, हर फिल्म मेकर किसी न किसी पर बायोपिक बनाने में लगा पड़ा है इनमें कुछ फिल्में कामयाब होती तो कुछ औंधे मुँह गिर जाती हैं | इसी दौड़ का हिस्सा बनते हुए नॉस्ट्रम इंटरटेनमेंट के अंतर्गत एक और बायोपिक फिल्म का निर्माण शुरू होने जा रहा है और इस फिल्म का नाम होगा “जिला गोरखपुर” | जी हाँ पहले ये सुनने में आ रहा था की ये फिल्म उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के जीवन पर बनेगी लेकिन फिल्म के प्रोडूसर विनोद तिवारी ने अपने एक ट्वीट से ये कन्फर्म किया है की ये बायोपिक नहीं होगी बल्कि “भगवा आतंक ” और “मोब लिंचिंग” पर आधारित होगी न की सी एम आदित्यनाथ के जावन पर आधारित होगी | हालांकि फिल्म का पहला लुक रिलीज़ हो चूका है जिसे देख कर तो कोई बता देगा की ये योगी आदित्यनाथ की ज़िन्दगी पर आधारित हो सकती है… लेकिन जिस तरह का पोस्टर रिलीज़ हुआ है और वो कहीं न कहीं फिल्म में विवाद तो ज़रूर खड़ा कर रहा है | इतना ही नहीं प्रोडूसर विनोद त्रिपाठी ने अपने ट्वीट में “भगवा आतंवाद” लिख कर पहले ही विवादों को हवा दे चुके हैं | विवाद खड़ा करके फिल्म की पब्लिसिटी करना आजकल आम बात हो गयी है खास तौर से  हिन्दू मुस्लिम मुद्दा तो एक ऐसा मुद्दा बन चूका है जिसमें हर कोई अपना हाथ धोता दिख रहा है | इससे पहले फिल्म मुल्क के निर्देशक अनुभव सिन्हा भी अपनी फिल्म को प्रमोट करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस में भगवा पहन कर आये थे और कई विवादित बयां भी दिए |

योगी आदित्य नाथ के जीवन के बारे में लोग जानना कहते हैं लेकिन अगर इसे गलत तरीके से दिखाया गया तो हिन्दू संस्थाओं में फिर से आक्रोश पैदा हो सकता है..  ट्वीट को देखते हुए तो लगता है की फिल्म बनने से पहले ही ये विवादों के बीच घिर जाएगी | इससे पहले डायरेक्टर विनोद तिवारी “तेरी भाभी है पगले” नाम की सुपरफ्लॉप फिल्म बना चुके हैं |हालांकि दोबारा सुनने में आया है की कुछ लोगों द्वारा धमकी मिली जाने की वजह से विनोद तिवारी ने दोबारा ट्वीट कर बताया की वो ये फिल्म नहीं बना रहे हैं | इस बात से सिर्फ इतना ज़ाहिर होता है की ये के सस्ते पब्लिसिटी स्टंट से ज्यादा कुछ नहीं था |

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *