नमस्ते लंदन के मुक़ाबले फिलहाल ट्रेलर पानी काम चाय दिख रही है | नमस्ते इंग्लैंड ट्रेलर रिव्यु

फिल्म का डायरेक्शन किया है विपुल अमृतलाल शाहने जो की इससे पहले २००७ में नमस्ते लंदन फिल्म का डायरेक्शन भी कर चुके है | नमस्ते इंग्लैंड के ट्रेलर में विपुल अमृतलाल शाह की पिछली फिल्म की झलक ज़रूर नज़र आती है हलाकि इस बार कहानी अलग है | अर्जुन कपूर की बात करें तो इस बार भी वो अपनी पिछली कुछ फ्लॉप फिल्मो की तरह ही एक्टिंग करते नज़र आ रहे हैं | ट्रेलर में उनके कुछ सीन्स देखकर उनकी इससे पिछली फिल्म हाफ गर्लफ्रेंड की याद आने लगती है | फिल्म की कहानी में किसी भी तरह का नयापन नहीं है इस तरह के सब्जेक्ट पर इससे पहले बहुत सी फिल्में बन चुकी हैं इतना ही ही नहीं फिल्म में सुनाई देने वाले कुछ डायलाग भी बासी महसूस होते हैं जैसे ” लड़कियों को समझा नहीं जाता” | अरे भाई अब ऐसा नहीं है लड़कियों को समानाधिकार मिलने शुर हो गए हैं लड़किया भी बहुत कुछ कर रही हैं | पता नहीं शायद डायरेक्टर साहब कौन से ज़माने में जी रहे हैं | खैर फिल्म की कहानी है अर्जुन कपूर और परिणीति चोपड़ा की है जो की पति पत्नी के रूप में दिखाई पड़ते हैं लेकिन परिणतीय के कुछ सपने हैं वो ज़िन्दगी में कुछ करना चाहती है जिसके लिए वो अपने पति परिवार समाज से दूर इंग्लैंड चली जाती है और फिर उसे मानाने उसका पति अर्जुन कपूर भी उसके पीछे पीछे इंग्लैंड पहुँचता है और मानाने की कोशिश करता है |
फिल्म के ट्रेलर में आतिफ असलम का गाना राहत ज़रूर महसूस करता है लेकिन बाकी के गाने कैसे होंगे ये आने वाले दिनों में पता चलेगा | इंग्लैंड बेस्ड कहानी है तो खूबसूरत लोकेशंस फिल्म में होने चाहिए | फिलहाल नमस्ते लंदन के मुक़ाबले तो ये ट्रेलर पानी काम चाय ही नज़र आ रही है | देखते हैं फिल्म की कुछ नया दिखा पाने में कामयाब होती है |

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *